generation of computer in hindi


2

generation of computer in hindi (कंप्यूटर की पीढियां)

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो सूचना या डेटा को संसाधित करता है। इसमें डेटा को स्टोर करने, पुनर्प्राप्त करने और संसाधित करने की क्षमता है। इस पोस्ट generation of computer in hindi मे हम कंप्युटर की पीढ़ियां के बारे मे पढ़ेंगे ।
आजकल, कंप्यूटर का उपयोग दस्तावेजों को टाइप करने, ईमेल भेजने, गेम खेलने और वेब ब्राउज़ करने के लिए किया जा सकता है। इसका उपयोग स्प्रेडशीट, प्रस्तुतिकरण और यहां तक ​​कि वीडियो को संपादित करने या बनाने के लिए भी किया जा सकता है। लेकिन इस जटिल प्रणाली का विकास 1940 के आसपास कंप्यूटर की पहली पीढ़ी के साथ शुरू हुआ और तब से विकसित हो रहा है।

कंप्यूटर की पाँच पीढ़ियाँ हैं।

कम्‍प्‍यूटर की प्रथम पीढ़ी ( First generation of computer in hindi )

Introduction:
कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी की शुरुआत 1940 से मानी जाती है इस जनरेशन में वैक्यूम ट्यूब का प्रयोग किया गया था इस जनरेशन में मशीनी भाषा का प्रयोग किया गया था इसमें मेमोरी के उपयोग के लिए चुंबकीय टेप और पंच कार्ड का प्रयोग किया गया था 
J.P.Eckert और J.W.Mauchy ने ENIAC नामक पहले सफल इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर का आविष्कार किया, ENIAC का full name “इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिक इंटीग्रेटेड एंड कैलकुलेटर” है।
कुछ उदाहरण हैं:
ENIAC
एडवैक
UNIVAC
आईबीएम 701
आईबीएम 650

generation of computer in hindi

Advantage of First generation of computer

  • इसने Vacuum tubes का उपयोग किया जो उन दिनों में उपलब्ध एकमात्र इलेक्ट्रॉनिक घटक हैं।
  • ये कंप्यूटर मिलीसेकंड में गणना कर सकते थे।

Disadvantage of First generation of computer

  • ये आकार में बहुत बड़े थे, वजन लगभग 30 टन था।
  • ये कंप्यूटर Vacuum tubes पर आधारित थे।
  • ये कंप्यूटर बहुत महंगे थे।
  • यह Magnetic drum की उपस्थिति के कारण केवल थोड़ी मात्रा में जानकारी संग्रहीत कर सकता है।
  • चूंकि First generation के कंप्यूटर के आविष्कार में Vacuum tubes शामिल हैं, इसलिए इन कंप्यूटरों का एक और नुकसान था, वैक्यूम ट्यूबों को एक बड़े शीतलन प्रणाली की आवश्यकता होती है।
  • बहुत कम कार्य कुशलता।
  • इनपुट लेने के लिए सीमित प्रोग्रामिंग क्षमताओं और punch card का उपयोग किया गया था।
  • बड़ी मात्रा में energy consumption।
  • विश्वसनीय और निरंतर maintenance की आवश्यकता नहीं है।

कम्‍प्‍यूटर की द्वितीय पीढ़ी  ( Second generation of computer in hindi )

Introduction:
द्वितीय पीढ़ी ( Second generation ) की अवधि 1956 से 1963 तक मानी जाती है इस generation में Vacuum tubes के स्थान पर Transistor का प्रयोग किया गया था जिसका विकास विलियन शॉप अली ने 1947 में किया था इसमें असेंबली भाषा का प्रयोग किया गया था इसमें मेमोरी के लिए magnetic tape का प्रयोग किया जाने लगा इस पीढ़ी के कंप्यूटरों में आईबीएम 1401 प्रमुख है जो कि बहुत ही लोकप्रिय कंप्यूटर था।
कुछ उदाहरण हैं:
हनीवेल 400
आईबीएम 7094
सीडीसी 1604
सीडीसी 3600
UNIVAC 1108

generation of computer in hindi

Advantage of Second generation of computer

  • Vacuum tubes के बजाय Transistor की उपस्थिति के कारण, इलेक्ट्रॉन घटक का आकार कम हो गया। इसके परिणामस्वरूप First generation के कंप्यूटरों की तुलना में कंप्यूटर का आकार कम हो गया।
  • कम ऊर्जा और First generation के रूप में उतनी गर्मी उत्पन्न नहीं होती है।
  • असेंबली लैंग्वेज और पंच कार्ड का इस्तेमाल इनपुट के लिए किया गया था।
  • First generation के कंप्यूटरों की तुलना में कम लागत।
  • बेहतर गति, Microsecond में डेटा की गणना।
  • First generation की तुलना में बेहतर Portability

Disadvantage of Second generation of computer

  • एक cooling system की आवश्यकता थी।
  • लगातार Maintenance की आवश्यकता थी।
  • केवल विशिष्ट उद्देश्यों के लिए उपयोग किया जाता है।

कम्‍प्‍यूटर की तृतीय पीढ़ी  ( Third generation of computer in hindi )

Introduction:
तृतीय पीढ़ी ( Third generation ) की अवधि 1964 से 1975 तक मानी जाती है इस generation में Transistor की जगह आईसी Integrated circuit का प्रयोग किया जाने लगा आई सी का पूरा नाम इंटीग्रेटेड सर्किट है इसी का विकास 1958 में जेटली ने किया था इसमें IC Technology में ऐसा एस आई एस आई का प्रयोग किया जाने लगा एस आई का पूरा नाम Small Scale Integration है इसमें हाई लेवल भाषा का प्रयोग किया जाने लगा इसमें हाई लेवल भाषा का प्रयोग प्रोग्रामिंग के लिए क्या जाने लगा इस में मेमोरी के तौर पर Magnetic disk का प्रयोग किया जाने लगा इस पीढ़ी के कंप्यूटर में Multiprocessing और Multiprogramming का फीचर भी जोड़ा गया Third generation के मुख्य कंप्यूटर हैं
आईसी का आविष्कार रॉबर्ट नोयस और जैक किल्बी ने 1958-1959 में किया था।
आईसी एक एकल घटक था जिसमें Transistorकी संख्या थी।
कुछ उदाहरण हैं:
पीडीपी -8
PDP-11
आईसीएल 2900
आईबीएम 360
आईबीएम 370

generation of computer in hindi

Advantage of Third generation of computer

  • ये कंप्यूटर Second generation के कंप्यूटरों की तुलना में सस्ते थे।
  • वे तेज और Reliable थे।
  • कंप्यूटर में IC का उपयोग कंप्यूटर के छोटे आकार को प्रदान करता है।
  • IC न केवल कंप्यूटर के आकार को कम करता है बल्कि यह पिछले कंप्यूटर की तुलना में कंप्यूटर के प्रदर्शन को भी बेहतर बनाता है।
  • कंप्यूटर की इस पीढ़ी में Large storage capacity है।
  • punch cards के बजाय, mouse और keyboard का उपयोग इनपुट के लिए किया जाता है।
  • उन्होंने बेहतर resource management के लिए एक Operating System का उपयोग किया और समय-साझाकरण और कई प्रोग्रामिंग की अवधारणा का उपयोग किया।
  • ये कंप्यूटर माइक्रोसेकंड से नैनोसेकंड तक कम्प्यूटेशनल समय को कम करते हैं।

Disadvantage of Third generation of computer

  • आईसी चिप्स को बनाए रखना मुश्किल है।
  • आईसी चिप्स के निर्माण के लिए आवश्यक अति परिष्कृत तकनीक।
  • एयर कंडीशनिंग की आवश्यकता है।

कम्‍प्‍यूटर की चतुर्थ पीढ़ी ( Fourth generation of computer in hindi )

Introduction:
चतुर्थ पीढ़ी  की अवधि 1975 से 1989 तक मानी जाती है इस generation में इंटीग्रेटेड सर्किट के स्थान पर वीएलएसआई का प्रयोग किया जाने लगा जिसका पूरा नाम था वेरी लार्ज स्केल इंटीग्रेटेड सर्किट इसमें हाई लेवल भाषाओं का प्रयोग प्रोग्रामिंग के लिए किया जाने लगा इसमें एक सिलीकान चिप पर कंप्यूटर के सभी एकीकृत परिपथ को लगाया जाने लगा जिसे माइक्रोप्रोसेसर कहा जाता था और इसी चिप का प्रयोग करने के कारण कंप्यूटरों को माइक्रोकंप्यूटर कहा जाने लगा
किसी प्रोग्राम में किए जाने वाले किसी भी तार्किक और अंकगणितीय कार्य के लिए कंप्यूटर में माइक्रोप्रोसेसर का उपयोग किया जाता है।
उपयोगकर्ताओं को अधिक सुविधा प्रदान करने के लिए ग्राफिक्स यूजर इंटरफेस (GUI) तकनीक का फायदा उठाया गया।
कुछ उदाहरण हैं:
आईबीएम 4341
DEC 10
स्टार 1000
PUP 11

generation of computer in hindi

Advantage of Fourth generation of computer

  • कंप्यूटर की पिछली पीढ़ी की तुलना में सबसे तेजी से गणना और आकार में कमी आती है।
  • उत्पन्न गर्मी नगण्य है।
  • पिछली पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में आकार में छोटा।
  • कम रखरखाव की आवश्यकता है।
  • इस प्रकार के कंप्यूटरों में सभी प्रकार की उच्च-स्तरीय भाषा का उपयोग किया जा सकता है।

Disadvantage of Fourth generation of computer

  • माइक्रोप्रोसेसर डिजाइन और निर्माण बहुत जटिल हैं।
  • आईसी की उपस्थिति के कारण कई मामलों में एयर कंडीशनिंग की आवश्यकता होती है।
  • IC बनाने के लिए Advance Technology की आवश्यकता होती है।

कम्‍प्‍यूटर की पंचम पीढ़ी ( Fifth generation of computer in hindi )

Introduction:
पांचवी पीढ़ी की शुरुआत 1989 से और अब तक मानी जाती है इस generation में आई सी की जगह ईएसआईसीएस एलआईसी की जगह यू एल एस आई सी का प्रयोग किया जाने लगा इसका पूरा नाम था अल्ट्रा लार्ज स्केल इंटीग्रेटेड सर्किट  है  इस पीढ़ी के अंदर वॉइस रिकॉग्निशन, सेंसर वाली प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया जाने लगा इन भाषाओं में GUI इंटरफ़ेस का प्रयोग भी किया जाने लगा
यह पीढ़ी कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर आधारित है।
पांचवीं पीढ़ी का उद्देश्य एक ऐसा उपकरण बनाना है जो प्राकृतिक भाषा इनपुट पर प्रतिक्रिया दे सके और सीखने और आत्म-संगठन करने में सक्षम हो।
यह पीढ़ी ULSI (अल्ट्रा लार्ज स्केल इंटीग्रेशन) तकनीक पर आधारित है, जिसके परिणामस्वरूप माइक्रोप्रोसेसर चिप्स का उत्पादन दस मिलियन इलेक्ट्रॉनिक घटक का होता है।
कुछ उदाहरण हैं:
Desktop
Laptop
Notebook
Ultrabook
Chromebook

generation of computer in hindi
generation of computer in hindi ( कंप्यूटर की पीढियां )

Advantage of Fifth generation of computer

  • यह अधिक विश्वसनीय है और तेजी से काम करता है।
  • यह विभिन्न आकारों और अनूठी विशेषताओं में उपलब्ध है।
  • यह मल्टीमीडिया विशेषताओं के साथ अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस के साथ कंप्यूटर प्रदान करता है।

Disadvantage of Fifth generation of computer

  • उन्हें बहुत निम्न-स्तरीय भाषाओं की आवश्यकता है।
  • वे मानव मस्तिष्क को सुस्त और प्रफुल्लित कर सकते हैं

आपको हमारी generation of computer in hindi ( कंप्यूटर की पीढियां ) पोस्ट कैसी लगी कृपया इसके बारे में अवश्य कमेंट करे जिससे हमें पोस्ट को और अधिक उन्नत बनाने में सहायता मिलेगी धन्यवाद


Like it? Share with your friends!

2
vikram

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *